Corporate: H-70, Sector-63, Noida (UP), 201301
Studio: C-56, A/20, Sec-62, Noida (UP)

होम बड़ी खबर राज्य खेल विश्व मनोरंजन आस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में पत्रिका
24, February,2018 11:14:42
घर में घुसकर दो युवतिओं पर फायरिंग, एक की मौत, एक घायल हड़कम्प | घर में घुसकर दो युवतिओं पर फायरिंग, एक की मौत, एक घायल हड़कम्प | असलाह फैक्ट्री में छापा मारने गर्इ पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा इनामी बदमाश | जेई की पिटाई का मामला | तेज रफ्तार पोलो कार ने आधा दर्जन गाड़ियों में मारी टक्कर | भाजपा सांसद हुकुम सिंह के देहांत का मामला | आगरा ब्रेकिंग थाना हरीपर्वत क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट नगर में ट्रक की दो बॉडी में लगी भीषण आग दमकल की गाड़ियां मौके पर | सहारनपुर पुलिस की 24 में दूसरी मुठभेड़ | जेसीबी को रात में नदी में उतारने की कवायद | मृतका हेमलता पैकरा कोरिया जनपद सदस्य हैं |
News in Detail
इतिहास के पन्नेः आज ही के दिन पहली बार बल्लेबाजी करने उतरे थे सचिन
15 Nov 2016 IST
Print Comments    Font Size  
नई दिल्ली।इतिहास के पन्नों में झाक के आज के दिन को अगर याद किया जाये तो ये दिन खेल जगत के इतिदास का एक अहम पन्ना कहना गलत ना होगा यही से शुरुआत हुई थी क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले इस खिलाड़ी की। इतिहास के लिए 15 नवंबर 1989 का दिन जब एक 16 साल का लड़का नैशनल स्टेडियम कराची में बल्लेबाजी करने उतरा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहली बार। लड़के का नाम था सचिन रमेश तेंडुलकर।

यह न सिर्फ मुंबई के एक किशोर के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत थी बल्कि यह उस सफर का पहला कदम था जिस पर 24 साल पूरा देश उसका हमसफर रहा। इस सफर के दौरान सचिन एक युवा खिलाड़ी से क्रिकेट के भगवान तक के मुकाम तक पहुंचे। 24 साल के इस करियर के दौरान उन्होंने 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 51 टेस्ट शतक और 68 हाफ सेंचुरी बनाईं। इस सफर में सचिन ने कुल 200 टेस्ट मैच खेले।

अपने पहले टेस्ट मैच में सचिन ने छठे नंबर पर बल्लेबाजी की। पाकिस्तान के 409 रनों के जवाब में भारत की पहली पारी 41 रनों पर चार विकेट खोकर संकट में थी। तेंडुलकर ने 24 गेंदों का सामना किया और दो चौकों की मदद से 15 रन बनाए। सचिन को जिस पाकिस्तानी गेंदबाज ने आउट किया वह भी अपना पहला मैच ही खेल रहा था। उस गेंदबाज का नाम था- वकार युनिस।
लोअर ऑर्डर बल्लेबाजों के सहयोग से भारत अंत में मैच ड्रॉ करवाने मे सफल रहा। बल्लेबाजी के साथ ही सचिन ने अपने पहले मैच में एक ओवर गेंदबाजी भी की और उसमें 10 रन दिए। सचिन को दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। सचिन और वकार दोनों ने अपने-अपने देश के लिए कामयाबी की कई इबारतें लिखीं।

भारतीय गेंदबाज सलिल अंकोला और पाकिस्तान के शाहिद सईद के लिए यह पहला और आखिरी टेस्ट मैच रहा। अंकोला ने इसके बाद भारत के लिए 20 वनडे इंटरनैशनल खेले। इसके बाद उन्होंने ऐक्टिंग के क्षेत्र में अपना करियर बना लिया। वहीं सईद ने पाकिस्तान के लिए 10 वनडे इंटरनैशनल मैच और खेले। मैन ऑफ द मैच कपिल देव का यह 100वां टेस्ट मैच था। इस मैच के दौरान वह 350 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले चौथे गेंदबाज बने थे।

इस तारीख के साथ एक संयोग और भी है कि वर्ष 2013 में आज ही के दिन आखिरी बार बल्लेबाजी करने उतरे थे। 14 नवंबर को भारत और वेस्ट इंडीज के बीच टेस्ट मैच खेला गया था और इस दौरान सचिन मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 74 रनों की पारी खेली थी। इस पारी के साथ ही सचिन के 24 साल लंबे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर पर पर्दा गिरा था। लेकिन अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों में इतिहास में दर्ज कर गये।

 

Send Comments
Name
Location
Email
Comments
  Please Enter the above Characters
होमबड़ी खबरराज्यखेलविश्व लाइफ स्टाइलआस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में
 
 

 

Copy Rights Reserved By www.indiacrime.in - 2015