होम बड़ी खबर राज्य खेल विश्व मनोरंजन आस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में पत्रिका
11, December,2018 03:28:58
गौतमबुद्धनगर में 4 और गुंडों को 6 माह के लिए किया जिला बदर | हिट एण्ड रन मामला. | बेटे ने पिता पर किया धारदार हथियार से हमला, गंभीर हालत में पिता को अस्पताल में भर्ती | अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ी, एक दिन में एक हजार पंजीकरण हो रहे | कार में लगी आग, ड्राइवर की मौके पर हुई मौत | रंजिश को लेकर चली गोलियां, 4 लोग हुवे घायल | मकान में बिजली करंट से तीन मजदूर झुलसे | चलती कार में महिला के साथ गैंगरेप.. | ट्रक और रोडवेज बस में भीषण भिड़ंत | पुलिस जवानों,ईमानदारी और कर्तव्य परायणता के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करें |
News in Detail
टर्नबुल ने कहा-ये बात सच है कि डोनाल्ड ट्रंप ने खरी-खोटी सुनाई थी
03 Feb 2017 IST
Print Comments    Font Size  
अमेरिका की सत्ता संभालने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने विश्व के कई राष्ट्राध्यक्षों से बातचीत की। उस कड़ी में ट्रंप ने आस्ट्रेलिया के पीएम टर्नबुल से भी बात की। लेकिन ट्रंप की नजरों में टर्नबुल के साथ हुई बातचीत अब तक की सबसे बुरी थी। उधर अब आस्ट्रेलिया के पीएम टर्नबुल का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने उनसे खरी-खरी बात की थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शरणार्थियों के मुद्दे पर ट्रंप ने टर्नबुल को खरीखोटी सुनाई थी। टर्नबुल ने ट्रंप की तारीफ में कसीदे पढ़े और कहा कि वो बहुत बड़ी शख्सियत हैं। इस सिलसिले में शिन्हुआ न्यूज एजेंसी ने एक रेडियो जर्नलिस्ट जॉन लॉ के हवाले से बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप और आस्ट्रेलियाई पीएम के बीच खुशनुमा माहौल में बातचीत हुई थी। ऑस्ट्रेलिया ब्रिटिश साम्राज्य में टर्नबुल ट्रंप और टर्नबुल के बीच गरमागरम बातचीत की जानकारी वॉशिंगटन पोस्ट पर लीक हो गई थी। दरअसल आस्ट्रेलियाई शरणार्थियों के मुद्दे पर बातचीत करने के लिए ट्रंप और टर्नबुल के बीच बातचीत के लिए एक घंटे का समय तय था। लेकिन 25 मिनट की बातचीत के बाद ट्रंप इस कदर भड़क गए कि उन्होंने फोन काट दिया। 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा और आस्ट्रेलियाई सरकार के बीच करीब 1200 शरणार्थियों को अमेरिका वापस भेजे जाने पर सहमति बनी। लेकिन अमेरिका में सत्ता परिवर्तन के बाद अपनी नीति को स्पष्ट करते हुए ट्रंप ने साफ कर दिया कि वो शरणार्थियों को अमेरिका में किसी भी कीमत पर नहीं आने देंगे। टर्नबुल से बातचीत के बाद ट्रंप ने नाराजगी जाहिर करते हुए ट्वीट किया कि क्या आप विश्वास करते हैं। ओबामा प्रशासन ने आस्ट्रेलिया से हजारों शरणार्थियों को अमेरिका में शरण देने पर सहमति जताई थी। ट्रंप ने कहा कि इस तरह का फैसला क्यों किया गया, वो इस बेकार डील पर अध्ययन करेंगे और फैसला करेंगे। लेकिन टर्नबुल ने कहा कि ट्रंप की नाराजगी के बाद भी ये डील पूरी होगी। ट्रंप ने कहा कि वो अपने पूर्ववर्ती राष्ट्रपति द्वारा लिए गए फैसले की स्वागत करेंगे। टर्नबुल ने कहा कि इस मुद्दे के बाद बहुत से ऐसे मुद्दे हैं,जिनके सुलझने का रास्ता प्रशस्त हो सकेगा। लेकिन इन सबके बीच व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी सीन स्पाइसर ने दो बार कहा कि आस्ट्रेलिया के पीएम टर्नबुल मिस्टर ट्रमबुल हो चुके हैं।

 

Send Comments
Name
Location
Email
Comments
  Please Enter the above Characters
होमबड़ी खबरराज्यखेलविश्व लाइफ स्टाइलआस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में
 
 

 

Copy Rights Reserved By www.24x7indiaonline.com - 2018