Corporate: H-70, Sector-63, Noida (UP), 201301
Studio: C-56, A/20, Sec-62, Noida (UP)

होम बड़ी खबर राज्य खेल विश्व मनोरंजन आस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में पत्रिका
23, October,2018 10:50:38
डीसीएम की आमने-सामने की हुई टक्कर, 6 यात्री हुवे घायल | गौतमबुद्धनगर में 4 और गुंडों को 6 माह के लिए किया जिला बदर | हिट एण्ड रन मामला. | बेटे ने पिता पर किया धारदार हथियार से हमला, गंभीर हालत में पिता को अस्पताल में भर्ती | अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ी, एक दिन में एक हजार पंजीकरण हो रहे | कार में लगी आग, ड्राइवर की मौके पर हुई मौत | रंजिश को लेकर चली गोलियां, 4 लोग हुवे घायल | मकान में बिजली करंट से तीन मजदूर झुलसे | चलती कार में महिला के साथ गैंगरेप.. | ट्रक और रोडवेज बस में भीषण भिड़ंत |
News in Detail
भारत में मोबाइल इंटरनेट पर क्यों दांव लगा रही हैं टेलीकॉम कंपनिया? ये हैं 5 बड़े कारण
21 Apr 2015 IST
Print Comments    Font Size  
नई दि‍ल्‍ली। भारतीय टेलीकॉम इंडस्‍ट्री पि‍छले कुछ समय से नेट न्‍यूट्रलि‍टी, स्‍पैक्‍ट्रम नीलामी, टैरि‍फ रेट जैसे मुद्दों को लेकर सुर्खि‍यों में रही हैं। कभी टेलीकॉम कंपनि‍यां इस बात का रोना रोती रहीं कि‍‍ इंटरनेट सर्वि‍स ग्राहकों तक पहुंचाने के लि‍ए उन्‍हें महंगा स्‍पैक्‍ट्रम खरीदना पड़ा है, तो कभी उन्होंने मोबाइल एप्‍लीकेशंस पर आरोप लगाया कि‍ वह उनके कारोबार को चोट पहुंचा रही हैं। इन सब नकारात्‍मक बातों के बावजूद भी ऐसा क्‍या कि‍ जि‍सकी वजह से भारतीय बाजार इन कंपनि‍यों के लि‍ए हॉट स्‍पॉट बना हुआ है। दुनि‍या में सबसे सस्‍ती वॉयस और डाटा सर्वि‍स देने वाली इंडस्‍ट्री में कंपनि‍यां बड़े पैमाने पर क्‍यों नि‍वेश कर रही हैं।
कुछ आंकड़ों पर अगर नजर डाली जाए तो यह साफ हो जाता है कि‍ कंपनि‍यां भारत पर दांव क्‍यों लगा रही हैं। सालाना आधार पर मोबाइल फोन पर इंटरनेट यूजर्स, स्‍मार्टफोन की बि‍क्री, ग्‍लोबल ऐप डाउनलोड और 3जी इस्‍तेमाल तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में कंपनि‍यों के बड़े आरोपों के बाद भी भारत कारोबार के लि‍ए मुफीद बना हुआ है।
मोबाइल से बढ़ रहा है इंटरनेट का इस्‍तेमाल
दूरसंचार नि‍यामक ट्राई और फि‍क्‍की के संयुक्‍त रूप से कि‍ए अध्‍ययन के मुताबि‍क, साल 2013 में मोबाइल फोन पर इंटरनेट का इस्‍तेमाल करने वालों की संख्‍या 13 करोड़ थी। इस संख्‍या में साल दर साल इजाफा दर्ज हुआ है। 2014 में मोबाइल पर इंटरनेट यूजर्स की 17.3 करोड़ हो गई। अध्‍ययन के मुताबि‍क, प्रोवि‍जनल डाटा साल 2015 में 23.2 करोड़, 2016 में 28.6 करोड़ और 2017 में 34.2 करोड़ तक पहुंच जाएगा।
तेजी से बि‍क रहे हैं स्‍मार्टफोन
पिछले कुछ समय में भारत स्‍मार्टफोन बनाने वाली कंपनि‍यों के लि‍ए बड़ा बाजार बना है। अध्‍ययन में कहा गया है कि‍ साल 2013 में भारत में 6.6 करोड़ स्‍मार्टफोन बेचे गए थे। ‍वहीं, 2014 में यह आंकड़ा 11.6 करोड़ पर पहुंच गया। माना जा रहा है कि‍ 2015 में स्‍मार्टफोन की बि‍क्री 18.8 करोड़, 2016 में 24.9 करोड़ और 2017 में 29.9 करोड़ हो जाएगी।

ग्‍लोबल ऐप डाउनलोड के मामले में भारत चौथे स्‍थान पर
दुनि‍या भर में एप्‍लीकेशंस बनाने वालों के लि‍ए भी भारत काफी बड़ा मार्केट बन रहा है। इस मामले में अमेरिका पहले नंबर पर है। अमेरि‍का में 18 फीसदी ग्‍लोबल ऐप डाउनलोड हो रहा है। चीन में यह आंकड़ा 10 फीसदी और भारत में यह आंकड़ा 7 फीसदी है। भारत के बाद दक्षि‍ण कोरि‍या, मलेशि‍या, फि‍लि‍पींस, फ्रांस, रूस और तुर्की है।
मोबाइल यूजर्स तेजी से कर रहे हैं ओटीटी सर्वि‍स का इस्‍तेमाल
भारत में 52 फीसदी मोबाइल यूजर्स ने वॉट्सएप डाउनलोड कि‍या है। इसके अलावा, 37 फीसदी मोबाइल पर स्‍काइप, 42 फीसदी पर फेसबुक, 18 फीसदी पर वाइबर और 26 फीसदी पर वीचेट यूज कर रहे हैं।
3जी की स्‍पीड से बढ़ी कंपनि‍यों की कमाई
भारत में साल 2013-14 के दौरान कंपनि‍यां 2जी से 65 फीसदी और 3जी से 35 फीसदी सर्वि‍स रेवेन्‍यू जुटाती थी। माना जा रहा है कि‍ 2016-17 में 2जी सर्वि‍स से कंपनि‍यों का रेवेन्‍यू 38 फीसदी और 3जी से 55 फीसदी रेवेन्‍यू पहुंच जाएगा।

 

Send Comments
Name
Location
Email
Comments
  Please Enter the above Characters
होमबड़ी खबरराज्यखेलविश्व लाइफ स्टाइलआस्था
जरा इधर भी व्यापार जोक्स हमारे बारे में
 
 

 

Copy Rights Reserved By www.indiacrime.in - 2015